Symbols of Maheshwari Organizations

देशभर में माहेश्वरी समाज के लिए कार्य करनेवाले अनेको संगठन कार्यरत है, जिनमें से कुछ संगठनों का कार्यक्षेत्र सिर्फ अपने शहर तक सिमित है तो कुछ संगठन प्रदेश स्तर पर कार्य करते है. दो-चार बड़े संगठन राष्ट्रिय स्तर पर कार्यरत है. इनमें से कुछ संगठनों ने अपने संगठन अथवा संस्था के स्वतंत्र सिम्बॉल बनाये है. इन्ही संगठनों में से कुछ संगठनों के सिम्बॉल जानकारी हेतु यहाँ post किये है. यह सिम्बॉल उन संगठनों की, उन संगठनों के सदस्यों-पदाधिकारियों की अपनी विशिष्ठ पहचान को दर्शाते है; उन संगठनो द्वारा किये गए कार्य को प्रचारित करते है. यह सिम्बॉल समाज में उन संगठनों की पहचान (identity) बन गए है.

जैन मुनि तरुण सागर जी की पावन स्मृति को समस्त माहेश्वरी समाज की ओरसे शत शत नमन !


अपने कड़वे प्रवचनों से ना सिर्फ जैन समाज को बल्कि समस्त मानवसमाज को मानवता और सदाचार के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देनेवाले जैन मुनि तरुणसागरजी हमारे बिच नहीं रहे. उनके देवलोकगमन से ना सिर्फ जैन समाज की बल्कि राष्ट्र की बहुत बड़ी क्षति हुई है. समस्त माहेश्वरी समाज की ओरसे मुनि तरुणसागरजी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ! उनकी पावन स्मृति को कोटि कोटि वंदन !!!

जैन समाज की विशिष्ठ पहचान और जैन संस्कृति को जिन्दा (कायम) रखने में जैन समाज के मुनियों-साध्वियों की भूमिका और योगदान  बहुत महत्वपूर्ण है. जैन समाज को कुरीतियों से बचाने में, मानवता और धर्म के मार्ग पर चलने का मार्गदर्शन करने में भी जैन मुनियों-साध्वियों का अद्भुत योगदान है. समाजगुरूओं के अभाव में, उनके मार्गदर्शन के अभाव में समाज कैसे पिछड़ता है इसे माहेश्वरीयों से ज्यादा अच्छे से कौन समझ सकता है; जो अपने समाज के समाजगुरूओं की परंपरा को कायम नहीं रख सकें.